चेले और शागिर्द

मंगलवार, 1 मार्च 2011

नेता जी की परेशानी ''म''

''म'' से मनमोहन बने ,''म'' से बने महंगाई ,
''म'' से मैडम की चले ,''म'' मुख कही न जाई ,
''म'' से मीडिया भी बने ,मंद-मंद मुस्काई ,
''म'' से हैं मजबूरियां ,''म'' मत पूछो भाई .
[नेता जी की और से ''म'' महाशिवरात्रि की बधाई ]
                                                     शिखा कौशिक
                   http://netajikyakahtehain.blogspot.com/

5 टिप्‍पणियां:

यशवन्त माथुर ने कहा…

'म' की यह महिमा हम' को पसंद आई.

'महाशिवरात्रि की आपको भी बधाई!

अहसास की परतें - समीक्षा ने कहा…

आपकी लेखनी मे धार है
ये कलम नही तलवार है

आपको भी महाशिवरात्री की हार्दिक शुभकामनाएं

अहसास की परतें - समीक्षा ने कहा…

आपकी लेखनी मे धार है
ये कलम नही तलवार है

आपको भी महाशिवरात्री की हार्दिक शुभकामनाएं

तीसरी आंख ने कहा…

आप कमाल की लिखती हैं. बहुत-बहुत साधुवाद

I and god ने कहा…

i can not type hindi. but want to congratulate whole community of your blog for maha shiv ratri.
ashok gupta
delhi
http://worldisahome.blogspot.com/