चेले और शागिर्द

मंगलवार, 26 जुलाई 2011

राजा जी क्या कहते हैं ?

राजा जी क्या कहते हैं ?

सरकारी  नीति का मैं करता रहा हूँ पालन
सन ९३ से यही करते रहें हैं शौरी-मारन
मेरी नीति से मिली मोबाईल की सस्ती दर 
अब रिक्शावाला तक मोबाईल रखता घर 
अगर स्पेक्ट्रम घोटाले में मेरा है कोई दोष 
तब पी.em. और चिदंबरम कैसे हैं निर्दोष ? 
                
                              शिखा कौशिक

6 टिप्‍पणियां:

नीरज जाट ने कहा…

बहुत बढिया प्रस्तुति

vidhya ने कहा…

bahut hi sundr

Khare A ने कहा…

yahi to yaksh prashn hai, shikah ji!

Dilbag Virk ने कहा…

आपकी पोस्ट आज के चर्चा मंच पर प्रस्तुत की गई है
कृपया पधारें
चर्चा मंच

S.M.HABIB ने कहा…

बढ़िया.... :))
सादर..

शालिनी कौशिक ने कहा…

bahut badhiya.