चेले और शागिर्द

रविवार, 24 जुलाई 2011

नेता जी की गर्दन -लोकपाल का फंदा

नेता जी की गर्दन -लोकपाल का फंदा
लोकपाल के मुद्दे पर जब झुकी नहीं सरकार
अन्ना ने भी चमका ली तब  विरोध - तलवार 
आमिर-कृष्णा-नारायण जैसे  योद्धा करें समर्थन 
लोकपाल के फंदे में अब नेता जी की गर्दन . 

                               शिखा कौशिक

1 टिप्पणी:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टी की चर्चा कल सोमवार के चर्चा मंच पर भी की गई है!
यदि किसी रचनाधर्मी की पोस्ट या उसके लिंक की चर्चा कहीं पर की जा रही होती है, तो उस पत्रिका के व्यवस्थापक का यह कर्तव्य होता है कि वो उसको इस बारे में सूचित कर दे। आपको यह सूचना केवल इसी उद्देश्य से दी जा रही है! अधिक से अधिक लोग इस ब्लॉग पर पहुँचेंगे तो हमारा भी प्रयास सफल होगा!