चेले और शागिर्द

शनिवार, 2 जुलाई 2011

जसवंत की राय

Jaswant Singh
जसवंत की राय 

कहते हैं जसवंत सिंह ये तो है अन्याय ,
बी.जे.पी. से अलग है उनकी तो ये राय ,
कनिमोझी और राजा को कैसे भेजा जेल ?
दोनों थे बस खेलते भ्रष्टाचार का खेल ,
साधारण ये खेल है ;न हत्या और डकैती ,
जब कोर्ट सुन रही मामला ,क्यों नहीं जमानत होती ?

                                           शिखा कौशिक 
                  http://netajikyakahtehain.blogspot.com

2 टिप्‍पणियां: