चेले और शागिर्द

शनिवार, 23 जुलाई 2011

नेकी कर दरिया में डाल

नेकी   कर    दरिया   में   डाल
Amar Singh
वोट   के बदले नोट दिए तब बच पाई सरकार
ऐसे अदभुत काम पर मिलते हैं पुरस्कार 
अमर सिंह यही सोचते ,सी.बी.आई.करे सवाल 
फिर दिल को समझा लेते ''नेकी कर दरिया में डाल  '' 
                                        
                   शिखा kaushik

1 टिप्पणी:

शालिनी कौशिक ने कहा…

बहुत खूब कहा आपने बधाई