चेले और शागिर्द

गुरुवार, 2 जून 2011

राजनीति में ''योग''

राजनीति में ''योग''
सत्ता सुख मैं पा रहा ,प्रबल है राजयोग ,
आठ ग्रह बलवान हैं ,सुन्दर सब संजोग ,
पर राहू यह रामदेव ;सिर पर हुआ सवार ,
राजनीति में ''योग'' से क्या मिटेगा भ्रष्टाचार !
                             शिखा कौशिक 

2 टिप्‍पणियां:

शालिनी कौशिक ने कहा…

neta ji grah shanti karva hi lijiye .

जाट देवता (संदीप पवाँर) ने कहा…

ये कसमकस तो लगी ही रहेगी, ये बाबा जब जो मन में ठान ले उसके पीछे पड जाता है.