चेले और शागिर्द

मंगलवार, 24 मई 2011

नेता जी का फेवरेट गेम -भ्रष्टाचार

नेता जी का फेवरेट गेम -भ्रष्टाचार 

खेलों में एक खेल है ;भ्रष्टाचार का खेल ,
न गारंटी जीत की ;दिग्गज होते फेल ,
बंधन वैसे कुछ नहीं ;खेलें मेल-फीमेल,
जो न खेलें ठीक से हो जाती है जेल ,
नेताओं का फेवरेट ;नित बनते कीर्तिमान ,
भारत के नेताओं ने सब कर लिए अपने नाम .
                                               शिखा कौशिक 

4 टिप्‍पणियां:

शालिनी कौशिक ने कहा…

netaon ke game ka kar diya maza kharab,
ab to harne ke hi aayenge unko khwab.
bahut sateek prastuti.badhai.

Kailash C Sharma ने कहा…

बहुत सुन्दर और सटीक प्रस्तुति..

smshindi By Sonu ने कहा…

kya bat hai

डा. श्याम गुप्त ने कहा…

अति-सुन्दर ..