चेले और शागिर्द

सोमवार, 27 जून 2011

माया से सवाल

माया  से  सवाल 

महिलाओं पर हो रहा नित दिन अत्याचार ;
प्रशासन पंगु भया ;पुलिस हुई बेकार ,
पत्रकार अब कर रहे प्रश्नों की बौछार ,
हुई निरुत्तर माया भी ;वाह ! उत्तर की सरकार.
             
                                   शिखा कौशिक  

3 टिप्‍पणियां:

शालिनी कौशिक ने कहा…

nari bhi maye kahen kahne vale sab ,
maya ka ye raj hai tab bhi sab bedhab.
bahut khoob shikha ji.

anshumala ने कहा…

बहन जी मुंबई आई थी और दीवारों पर लिख रखा था की अपने वोट की इज्जत अपने माँ बहन की तरह करे अब कौन सवाल करे की माँ बहन की इज्जत तो वहा सुरक्षित नहीं है |

veerubhai ने कहा…

पोलिस लाचार नहीं है .मेम साहब को अपने हाथ से बीड़ा खिलातें डी आई जी साहब और केक काटतें हैं आई जी साहब .सब आई जी हैं यहाँ .