चेले और शागिर्द

बुधवार, 20 मई 2015

धिक्कार है ऐसे प्रधानमंत्री को !

भारत के हर प्रधानमंत्री ने हर संभव प्रयास किया देश को विकास की राह पर ले जानें का पर ऐसा प्रचार नहीं किया जितना श्री मोदी कर रहे हैं .आज जो स्वागत श्री मोदी का विदेशों में हो रहा है वो एक भारतीय प्रधानमंत्री के रूप में किया जा रहा है पर इसे श्री मोदी का व्यतिगत स्वागत के रूप में प्रचारित किया जा रहा है .विदेशी धरती पर श्री मोदी का बार-बार यह कहना कि एक वर्ष से पहले भारत बहुत ख़राब स्थिति में था और अब एक वर्ष में भारत दुनिया की बहुत उभरती हुई अर्थव्यवस्था हो गयी है -उनके अल्प-ज्ञान का उदहारण है .ऐसा प्रधानमंत्री न पहले कभी भारत का हुआ था और न होगा -जो विदेशों में ऐसे भाषण दे रहा है जैसे बिहार या उत्तर-प्रदेश में चुनाव-प्रचार के लिए भाषण दिए जा रहे हो . धिक्कार है ऐसे प्रधानमंत्री को  जो देश की गरिमा पूरे विश्व  में तार-तार कर रहा है .

कोई टिप्पणी नहीं: