चेले और शागिर्द

शुक्रवार, 25 फ़रवरी 2011

नेता जी का फलसफा

मेरी इस सरकार में सबको है यह छूट ;
जनता है भोली बड़ी ,लूट सके तो लूट ,
सच्चाई को छोड़कर बोलो मिलकर झूठ;
गठबंधन पक्का रहे ,देखो जाये न टूट .
                     शिखा कौशिक http://netajikyakahtehain.blogspot.com/

2 टिप्‍पणियां:

शालिनी कौशिक ने कहा…

भाई वाह किस खूबसूरती से गठबंधन धर्म निभाया है आपने ..

अहसास की परतें - समीक्षा ने कहा…

सरदार जी की पोल खोल दी