चेले और शागिर्द

रविवार, 21 जुलाई 2013

देसी अंग्रेजों छक मरो पी अंग्रेजी चरणामृत !!

Mahatma_gandhi : Close up photo  of Mahatma Gandhi father of Indian nation
देसी अंग्रेजों छक मरो पी अंग्रेजी चरणामृत !!

राष्ट्रभाषा हिंदी को राष्ट्रपिता ने माना ,

उनके पदचिन्ह्नों पर चलकर हमने भी ये ठाना ,

भाषा रूप में अंग्रेजी को देते हैं सम्मान ,

पर नहीं ये हो सकती माँ हिंदी के समान ,

हिंदी धड़कन भारत की व् गरिमा है संस्कृत ,

देसी अंग्रेजों छक मरो पी अंग्रेजी चरणामृत !!



[सन्दर्भ
-
Row erupts over Rajnath Singh’s anti-English remarks]

1 टिप्पणी:

Shalini Kaushik ने कहा…

dho dala shikha ji .bahut khoob .