चेले और शागिर्द

रविवार, 14 जुलाई 2013

पिल्ले की माँ और सी.एम् साहब -लघु कथा

cute puppy dog u200bu200bpicture
पिल्ले की माँ और सी.एम् साहब -लघु कथा 

सी .एम. साहब सुबह की सैर पर ड्राइवर को लेकर अपनी शाही  कार से निकल लिए .ड्राइवर भी सत्ता की नींद से जागा नहीं था .सड़क पर वो दौड़ाई गाड़ी कि गुजरात की अर्थवयवस्था की विकास दर को भी रफ़्तार  में पछाड़ दिया .  सी.एम्. साहब पीछे की सीट पर थे .तभी जोरदार ब्रेक लगाकर ड्राइवर  ने कार रोक दी .सी.एम् साहब भड़ककर बोले -'' क्या  हुआ? क्यों  रोक दी कार ?'' ड्राइवर घबराते हुए बोला -'' साहब एक कुत्ते का पिल्ला सामने आ गया .उतरकर देखना पड़ेगा बचा या नहीं ?'' ड्राइवर कार से निकला तो सी.एम्. साहब भी निकल लिए .दयावान सी.एम्. कोमल ह्रदय के जो है .राज्य में क़त्ल-ए.आम हो जाये तो कोई बात नहीं पर कुत्ते का पिल्ला कार के नीचे आ जाये ये उनके दिल को दुःख पहुंचाता है .बड़े लोगों की बड़ी बड़ी बातें पर कार से ज्यों ही सी.एम्.साहब निकल कर खड़े हुए  पिल्ले की माँ ने उनके पैर में दांत गड़ा दिए .सी.एम्. साहब दर्द से कराहते हुए बोले -'' मैं कार   नहीं चला रहा था .तुम्हारे पिल्ले पर कार इस ड्राइवर ने चढाई है .'' पिल्ले की माँ पिल्ले को चाटते  हुए बोली -'' ओह गलती हो गयी .आपको को काटने का मुझे दुःख तो है पर अफ़सोस नहीं .'' ये कहकर पिल्ले की माँ उसे अपने साथ ले गयी और ड्राइवर सी.एम्.साहब को लेकर अस्पताल के लिए रवाना हो लिया .

शिखा कौशिक 'नूतन '
Sweet dog holding heart with the inscription I love you mom - stock vector

1 टिप्पणी:

Shalini Kaushik ने कहा…

सत्य आधारित सुन्दर लघु कथा .