चेले और शागिर्द

बुधवार, 4 जनवरी 2012

व्हाट'स गोइंग ऑन मैन ....व्हाट्स गोइंग ऑन





करप्शन  मिटाने  को  जो  आते  हैं आगे  
वे  भी  तो पैसे  के पीछे  हैं भागे  
पैसा  लुभाता  है ...सबको  नाचता  है 
इसकी कशिश ऐसी  मन  डोल  जाता  है 
लेने   न   देता   है पल   भर का चैन 
व्हाट'स  गोइंग ऑन  मैन  ....व्हाट्स  गोइंग ऑन


आया इलेक्शन  तो सिर पर बिठाते हैं
वादों के चश्मे  से  जन्नत  दिखाते  हैं ;
सत्ता मिली  ज्यों  ही  मुंह  मोड़  लेते  हैं 
अपने  किये  वादे  खुद  तोड़  देते है ,
फिर  रोज करते हैं ये तो स्कैम 
व्हाट'स गोइंग ऑन मैन ....व्हाट्स गोइंग ऑन 


                                                शिखा  कौशिक  
                                      [नेता जी क्या कहते हैं ?]




1 टिप्पणी:

dinesh aggarwal ने कहा…

कमाल है.....