चेले और शागिर्द

गुरुवार, 31 अक्तूबर 2013

नेहरू के निंदक हैं ये और गांधी के हत्यारे हैं !

Live: PM rightly said Sardar Patel was truly secular, says Modi
नफरत दिल में भरते ये ; ज़हरीले अंगारें हैं ,
नेहरू के निंदक हैं ये और गांधी के हत्यारे हैं !
.............................................................
कुटिल स्वार्थ -सिद्धि हेतु लौह पुरुष को पूज रहे ,
प्रतिमा लोहे की बना बना अवसरवादी कूद रहे ,
ये चले लूटने यश उनका जो जनता के प्यारे हैं !
नेहरू के निंदक हैं ये और गांधी के हत्यारे हैं !
........................................................
खून सने हाथों में 'नूतन' खिला कमल का फूल कभी ?
अभिमानी कपट वेश धर कर बने राम के भक्त सभी ,
किस किस का नाम बतायें हम रावण सारे के सारे हैं !
नेहरू के निंदक हैं ये और गांधी के हत्यारे हैं !
...............................................................
गांधी को गाली देते हैं ; नेहरू को कहते चरित्र-हीन ,
कहते खुद को हैं राष्ट्र भक्त पर निज भक्ति में रहें लीन,
इन्हें जनता सबक सिखाती जब दिख जाते दिन में तारे हैं !
नेहरू के निंदक हैं ये और गांधी के हत्यारे हैं !
शिखा कौशिक 'नूतन'

2 टिप्‍पणियां:

HAKEEM YUNUS KHAN ने कहा…

aapke alfaaz kya hain maano sachchai ki tasweer hain.

02shalinikaushik ने कहा…

गांधी को गाली देते हैं ; नेहरू को कहते चरित्र-हीन ,
कहते खुद को हैं राष्ट्र भक्त पर निज भक्ति में रहें लीन,
इन्हें जनता सबक सिखाती जब दिख जाते दिन में तारे हैं !
नेहरू के निंदक हैं ये और गांधी के हत्यारे हैं !
kya dho dho kar mara hai .sarahniy .