चेले और शागिर्द

मंगलवार, 6 सितंबर 2011

''माया का अरमान ''





Ladies Sandals Free Stock Photo

[dreamstimes से साभार ]
आग  लगे विकिलिक्स को ;खोले मेरी पोल ,
सत्ता-रस-आनंद में दिया कटु विष घोल ,
जो सैंडल मंगवाई थी ;भेज के एक विमान ,
उससे उसको पीट दूं ;बस इतना है अरमान .

                       शिखा कौशिक 

3 टिप्‍पणियां:

Mansoor Ali ने कहा…

'विकिलिंक्स' ने बहुत निराश किया,
खूबसूरत सा मेरा चेहरा छोड़,
'जूतियों' का मेरी हिसाब किया !

http://aatm-manthan.com

किसी का दर्द हमें तकलीफ देता है ने कहा…

आपसे सहमत हूँ... सुन्दर भाव और अभिव्यक्ति

Ehsaas ने कहा…

kamaal hai..achha laga ye blog kaafi..

http://teri-galatfahmi.blogspot.com/